UFS kya hai | यूएफएस 3.0 क्या है और यह क्या लाता है

UFS kya hai | what is UFS storage in Hindi

UFS storage को 2011 में launch किया गया था. UFS में UFS की full form होती है “universal flash storage”. UFS को launch करने के पीछे उद्देश्य था mobile devices के लिए fast storage solution को provide करवाना जो ज्यादा power भी consume नहीं करती हो.

UFS storage fast तो है ही साथ ही ये mobile की बहुत अधिक बैटरी भी consume नहीं करती है

Universal flash storage से पहले mobile devices में eMMC storage का इस्तेमाल किया जाता था. हलांकि low end devices में इसका इस्तेमाल अभी भी किया जाता है

लेकिन धीरे-धीरे UFS storage जो है वो eMMC को replace कर रहा है

जैसे laptop और PC के लिए SSD है वैसे ही mobile व cameras के लिए UFS storage है

Low end devices में अभी भी eMMC storage का अधिक इस्तेमाल किया जाता है

लेकिन UFC card जो है वो SD card और eMMC card की जगह ले रहा है.

UFS vs eMMC in Hindi | UFS और eMMC में क्या अंतर है

UFS और eMMC में जो सबसे बड़ा अंतर होता है वो होता है की UFS जो होता है वो full-duplex होता है वही eMMC जो होता है वो half-duplex होता है .

Half-duplex system में multiple data lanes होती है जिसमें से data हर lane में एक ही direction में move कर पता है

यानी data जो है वो या तो receiver से sender के pass या sender से receiver के पास जा सकता है

वही जो full duplex system होता है उस में एक ही समय में data both ways travel कर सकता है

UFS ३.1 की speed eMMC से काफी तेज़ है. UFS के भी कई versions आये है UFS 2.1 के बाद आये सभी versions eMMC से ज्यादा speed देते है

UFS का सबसे पहला version 1.0 Samsung के द्वारा develop किया गया था

आज के समय में ज़्यादातर mobile phones में UFS storage ही आ रही है

ये पोस्ट भी पढ़े:

UFS storage के फायदे | Benefits of UFS storage in Hindi

  • UFS New age storage है पुरानी eMMC technology से ये better transfer time देता है
  • UFS data transfer के दौरान high speed या कहे bandwidth देता है
  • UFS storage जो है low power consume करता है जिसके कारण mobile की बैटरी लम्बे समय तक चल सकती है
  • UFS जो है वो simple serial interface का इस्तेमाल करता है
  • UFS जो है वो eMMC से ज्यादा input/output operations per second support करता है
  • UFS Duplex topology को support करता है जिसकी वजह से reading और writing एक ही समय पर संभव हो पाता है

UFS चिप के प्रकार | Types of UFS chips in Hindi | UFS History

  • UFS 1.0

मार्किट में सबसे पहले यही UFS version के chip को launch किया गया था. इस chip को 2011 में joint electron device engineering के द्वारा launch किया गया था.

2016 में Samsung के द्वारा अपना first UFS card को launch किया गया था जो 32GB से 256 GB तक space provide करते थे

  • UFS 1.1

2012 में JEDEC (joint electron device engineering) के द्वारा UFS 1.1 को launch किया गया जो की updated version था UFS 1.0 का

  • UFS 2.0

2013 में JEDEC के द्वारा UFS के version 2.0 को launch किया था. इस version में UFS की transfer speed बड़ाई गयी थी. UFS 2.0 में 2 lanes थी जिसमें data both side transfer हो सकता था

  • UFS 2.1

UFS 2.1 को 4 April 2016 को launch किया गया था. UFS 2.1 भी UFS 2.0 जितनी bandwidth ही provide करता था. लेकिन UFS 2.1 में security को improve किया गया था

  • UFS 3.0

JEDEC ने UFS ३.0 को 30 January 2018 में launch किया था ये chip २100 MB से ज्यादा sequential speed provide करवाता है. इसके अलावा और भी काफी improvement किया गया इस version में

  • UFS 3.1

UFS ३.0 का भी upgrade version को launch किया गया जिसको की 30 January 2020 को launch किया गया इसके अंदर number of lanes और bandwidth तो UFS ३.0 वाली ही थी. लेकिन इसकी write speed में improvement किया गया

UFS vs SD card in Hindi | UFS बनाम SD कार्ड

  • Fast data transfer speed

UFS card जो होते है वो काफी fast transfer speed provide करते है. UFS card जो है वो SD card की तुलना में दुगनी तिकुनी speed देते है

  • Battery power saver

UFS cards जो है वो SD card की तुलना में आधी power consume करते है इसी के कारण बैटरी की बचत होती है

  • Fast app response

आप aap को भी UFS card में install कर सकते है आपके apps को use करने का experience वैसा ही रहता है जैसे आपने internal flash memory में app install किये हो. जबकि SD card के साथ ऐसा नहीं है

  • Different technology

UFS card full duplex technology का इस्तेमाल कर के बने होते है वही SD card में half duplex का इस्तेमाल होता है जिसकी वजह से UFS में speedy data transfer हो पता है

UFS chip से मोबाइल में क्या improvement हुआ है | benefits of UFS chip for mobile device

  • Performance boost

e.MMC 5.1 की तुलना में UFS chip के इस्तेमाल से न सिर्फ device तेज़ boot होता है इसके अलावा files व mobile apps भी fast respond करती है

  • Multi-tasking में मदद करता है

अगर device में UFS card लगा है तो आप कम लेटेंसी का अनुभव करेगे. ऐसे में जब आप कई एप्लिकेशन के बीच स्विच करेगे तो वो transition बिलकुल smooth होगा

  • Better camera performance

High memory interface bandwidth के कारण फ़ोटो के फटने या पैनोरमा की editing में आने वाली समस्याओ जो की e.MMC 5.1 के कारण आती है वो UFS card के होने से नहीं आती. UFS card के होने पर camera better perform करता है

आशा करते है की UFS storage kya hai ये आप जान गए होगे अगर आपके मन में UFS storage को लेकर कोई सवाल है तो वो आप हम से comment section में पूछ सकते है

Devanshu wadhwa

मैं एक ब्लॉगर व इस ब्लॉग का संस्थापक हु यहाँ इस ब्लॉग पर अपने पाठकों के लिए उपयोगी जानकारी लिखता हूं. टेक्नोलॉजी, ब्लॉग्गिंग व ऑनलाइन पैसा कैसे कमाए आदि विषयों पर मै लिखता हु आप चाहे तो मुझे social media पर follow कर सकते हो
Facebook | Instagram

Spread the love

Leave a Comment