Banking का नया दौर ATM Kya Hai ATM Full Form In Hindi के साथ

Spread the love

आखिर ये एटीएम क्या है ( atm kya hai )?. ATM Full Form in Hindi

हमें हमारी रोजमर्रा की ज़िंदगी में हमे अकसर पैसो की आवश्यकता पड़ती है।अब पैसे निकलने के लिए पहले की तरह हमे banks के बाहर लम्बी lines में नही खड़ा रहना पड़ता। क्योंकि अब ATM का नया दौर है जिसने हमारी life को आसान बना दिया है। atm kya hota hai ? atm ka full form क्या है? तो इस article में हम अब इस के के बारे में विसतार से जानेंगे ।

ATM एक electronic मशीन होती है जो customers को बिना किसी bank employee की सहायता के बुनियादी लेनदेन (cash withdrawal, deposit) को पूरा करने में सहायता देती है। अब आपको मालूम हो गया है कि atm kya hota hai?.

तो जान लीजिये की इससे कोई भी क्रेडिट कार्ड (credit card) या डेबिट कार्ड(debit card) वाला व्यक्ति cash निकाल सकता है। ये card customer के bank account से जुड़ा होता है।

एटीएम का फुल फॉर्म (ATM ka full form)

जिस ATM की हम बात कर रहे है उस एटीएम का फुल फॉर्म (ATM ka full form) तो जरुर पता होना चाहिए। atm full form in banking sector होता है “Automated Teller Machine” है। एटीएम का फुल फॉर्म हिंदी में क्या होता है आइये जानते है

atm full form in Hindi – “स्वचालित टेलर मशीन”

Hindi में इसका कोई अलग से नाम नहीं होता

ये पोस्ट भी पढ़े :

एटीएम का इतिहास (History of ATM)

सबसे पहले एटीएम का आविष्कार 1960 के दशक में Luthar Simjian ने किया था। जो कि सिर्फ check collection और cash deposit करने की सुविधा देता था।

कुछ दावों के अनुसार 1961 में सिटी बैंक ऑफ न्यूयॉर्क ने न्यूयॉर्क शहर में customers के लिए ATM चालू किया था। जिसे ग्राहकों की अस्वीकृति पर हटा दिया गया था। इसके बाद एक स्कॉटिश आविष्कारक John Shepherd Barron ने 1967 में ATM का निर्माण किया जो रेडियोएक्टिव इंक से प्रिंटेड पेपर वाउचर का प्रयोग करता था।

वो ATM जैसा आज हम इस्तेमाल करते हैं , वैसे पहले एटीएम का निर्माण 1969 में,संयुक्त राज्य अमेरिका के डोनाल्ड वेटज़ेल ( Donald Wetzel) ने किया था। जो कि प्लास्टिक कार्डों का उपयोग करता था।

एटीएम के प्रकार (Types of ATMs)

Primarily, ATM दो प्रकार के हैं। ATM सुविधाओं का उपयोग करने के लिए, उपयोगकर्ता का उस बैंक में खाता होना चाहिए जो ATM मशीन का संचालन करता है। अगर उस bank में खाता नहीं है लेकिंग दुसरे bank में खाता और ATM है तो भी आप कुछ transaction फीस दे कर दुसरे bank का ATM सिर्फ withdrawal के लिए उपयोग कर सकते है

  • Basic unit वाला ATM ग्राहकों को नकदी निकालने (cash withdrawal) और अद्यतन खाता शेष (updated account balances) प्राप्त करने की अनुमति देता हैं।
  • Complex ATM खाते की जानकारी तक पहुंच कर cash जमा करने, लाइन-ऑफ-क्रेडिट (line-of-credit) भुगतान और स्थानांतरण जैसी सुविधा देता हैं।

ये पोस्ट भी पढ़े :

एटीएम का उपयोग एवं उसके फायदे

जैसा की आपको बताया की ATM full form Automated Teller Machine होती है ये ATM आपको बैंक की शाखाओं के अंदर और बाहर, shopping malls , किराना स्टोर, सुविधा स्टोर, airports, बस और रेलवे स्टेशन, गैस स्टेशन, कैसीनो, रेस्तरां, और अन्य ऐसे ही स्थानों में देखने को मिलेगे | इनका उपयोग प्लास्टिक कार्ड या तो बैंक डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड की मदद से होता है। आप देश के किसी भी कोने में मौज़ूदा ATM का use कर सकते है। अब जाने इसके कुछ फायदे :

  • इनका use करने का कोई खास time नही है। आप एटीएम से किसी भी time जाकर पैसे निकाल सकते हैं| ये २४/७/365 सुविधा प्रदान करते है
  • आपका ATM card कोई ओर use नहीं कर सकता,क्योकि ATM में उसे use करने के लिए 4 अंको का पिन कोड डालना पड़ता है जो सिर्फ आप जानते है ।
  • खोये हुए एटीएम की complaint करने पर bank उसे ब्लॉक कर देता हैं ताकि वो deactivate हो सके और उससे पैसे न निकले जा सके ।
  • ATM का उपयोग आप cash withdrawal के एलावा balance enquiry और cash deposit के लिए भी कर सकते हैं|

इस article में हमने एटीएम क्या है (atm kya hai)? ,atm full form, उसके प्रकार , उपयोग एवं उसके फायदो के बारे में पढ़ा। ATM आने के बाद अब हमें पैसे निकलने के लिए banks के बाहर लम्बी lines में खड़े रहने की आवश्यकता नही है। इसकी वज़ह से दूर यात्रा करने पर ज्यादा पैसे लेकर जाने और पैसे को सुरक्षित रखने की problem भी ख़तम हो गई है। ATM के नये दौर में अब हम जब चाहे, जहॉं चाहे पैसे निकाल सकते हैं|

 

Leave a Comment