Monitor kya hai

Spread the love

Monitor kya hai

Monitor एक आउटपुट डिवाइस होती है जो डाटा को image, video, text, user interface के रूप मे दिखाती है. एक Monitor hardware होता है वो कई चीजों से मिल कर बना होता है जैसे display screen, Monitor case, Circut Board, power supply. Monitor एक हार्डवेयर device होता है.

मॉनिटर टीवी की तरह ही होता है लेकिन monitor का रिज़ॉल्यूशन टीवी से कही अधिक होता है हलाकि आजकल TV भी काफी हाई Resoultion के आ रहे है. लेकिन response time monitor का टीवी के मुकाबले कही ज्यादा होता है. जिसके बारे में हम detail में बाद में बात करगे

पुराने समय में टीवी को एंटरटेनमेंट के लिए इस्तेमाल किया जाता था और monitor को सिर्फ computer डाटा display करने के लिए. लेकिन धीरे धीरे टीवी और monitor का अंतर कम होता गया. आज जो monitor है उनको हम टीवी की तरह भी इस्तेमाल कर सकते है. बस ज्यादा तार monitors में inbuit speaker नहीं मिलता तो स्पीकर आपको अलग से लगाना पड़ता है

Monitor History | monitor का इतिहास

Computer monitor को पहले visual display units (VDU ) के नाम से जाना जाता था लेकिन ये बात 1990 से पहले की है. जब ये सिर्फ और सिर्फ computer data display के लिए इस्तेमाल हुआ करते थे. इसका नाम monitor इस लिए पड़ा क्युकी ये computer के डाटा को monitor करने के लिए इस्तेमाल होता था. और हम सब जानते ही है की monitor शब्द का इस्तेमाल उस चीज़ के लिए होता है जिसका इस्तेमाल निगरानी रखने के लिए किया जाता है.

शुरुवाती monitors बिलकुल ही simple होते थे जिनकी शमता भी बहुत सीमित होती थी इनको बस computer process की आंतरिक स्थिति जानने के लिए प्रयोग किया जाता था

CRT monitors के आने के बाद ही monitor को सही तौर में display device की तरह देखा जाने लगा

ये पोस्ट भी जरुर पढ़े Internet Kya Hai | Internet Ka Full Form

Who invented monitor | Monitor का आविष्कार किसने किया

आज जो हम monitor देखते है उसका आविष्कार किसी एक व्यक्ति ने नहीं किया समय के साथ धीरे धीरे विकसति हुआ है जिसमे कई लोगो और कंपनीज का सहियोग है हलाकि अगर सबसे पहले monitor launch की बात की जाये तो वो xerox company के द्वारा किया गया था 1 march 1973 को जिसको alto नाम के computer में लगाया गया था . हलाकि Cathode ray tube का आविष्कार 1897 में karl Ferdinand braun द्वारा किया गया था. Cathode ray tube ही वो प्रमुख technology थी जिससे monitor का निर्माण हुआ

Monitor kya काम करता है | Monitor kya kaam karta hai

Monitor का काम computer से भेजे गए information को display करना होता है. Computer में जो video card होता है वहाँ से सीधे डाटा को monitor तक भेजा जाता हो जो display screen पर दिखाई देता है. Monitor एक output hardware है जिसकी मदद से आप computer के साथ interact कर सकते है

ये पोस्ट भी जरुर पढ़े Barcode kya hai | QR code kya hota hai

Monitor ke prakar | Types of Monitor

  • Cathode ray tube (CRT)

जो सबसे पहला computer monitor था उसने इसी technology का इस्तेमाल किया था. CRT monitor की technology पुरानी हो चुकी है और आज बहुत ही कम प्रयोग की जाती है. किसी के पास पुराना हो तो अलग बात है CRT monitor का Production लगभग बंद ही हो चूका है. वैसे आपको बता दे की CRT की full form होती है Cathode Ray Tube

TFT, LCD, LED, OLED monitor ही देखने को मिलते है आजकल.

शुरुवाती monitors CRT हुआ करते थे जो 1970 से शुरू हुए थे और शुरुवात में ब्लैक एंड वाइट हुआ करते थे. फिर धीरे धीरे इनकी technology में improvement हुआ और ये कलर हो गए और resolution 1024 x 76८ तक जा पंहुचा. पर ये वजन में बहुत भारी हुआ करते थे और LCD के आने के बाद इनकी लोकप्रियता कम होती गयी

  • Liquid Crystal Display (LCD)

इनका आगमन 1990 के बाद हुआ और शुरुवात में इन्हें सिर्फ लैपटॉप में ही इस्तेमाल किया जाता था. 1997 के बाद इनको अलग से computer monitor की तरह बेचा जाने लगा. और ये इतने popular हुए की इन्होने CRT monitor को overtake कर लिया . क्युकी ये कम power लेते थे और वजन में भी बहुत हलके होते थे. इस के साथ ये जगह भी कम लेते थे और इनका flickering रेट भी कम होता था जिसकी वजह से आखों को कम नुकसान पहुचता था

आजकल जो एलसीडी प्रचलित है वो TFT-LCD है जिसकी full form है

thin film transistor -Liquid crystal display

  • Organic light-emitting diode (OLED)

ये बिलकुल latest technology है monitors की हलाकि ये अभी कुछ महंगी है पर ये हाई contrast और better viewing angle provide कराती है हलाकि इसमें अभी भी कुछ कमिया है जो समय के साथ सुधर जाएगी. पर फिर भी ये picture quality में LCD,LED से बहुत बढ़िया है

ये पोस्ट भी जरुर पढ़े MLM Kya Hai | MLM Full-Form | Network Marketing in Hindi

Monitor को लेकर प्रयोग की जाने वाली कुछ terms | Types of monitor features

  • Aspect Ratio – ये ratio होती है किसी भी monitor की जो horizontal और vertical length को लेकर निकली जाती है आमतौर पर जो ratio होती है वो 5:4, 4:3, 16:9.
  • Display Resolution – monitor का display resolution बढता ही जा रहा है आजकल 4k और 8k resolution आम बात हो गयी है शुरवाती दिनों में ये 320×200 हुआ करता था फिर 1024×768 आया इसी तरह 1920×1080, 5120×2880, 3840×2160 आदि resolution आये और अब 4k और 8k resolution आम बात हो गयी है
  • Response time – अगर आप gamer है तो response time बहुत important होता है किसी भी gamer के लिए. ये किसी भी monitor की स्पीड होती है जब उसके pixel white और ब्लैक होते है के बीच की . इस से computer से भेजे गए डाटा के interprate होने का time घट जाता है जिस से गेम में होने वाली घटना का आपको तुरंत पता चल जाता है
  • Contrast ratio – ये ratio होती है brightest और darkest color के बीच की
  • Power consumption – ये watt में दर्शाईं जाती है और दिखाती है की monitor कितनी बिजली खाता है
  • Viewing Angle – ये वो angle होता जो किसी भी monitor का viewing angle define करता है यानि की ये monitor किस angle तक देखा जा सकता है ज्यादा से ज्यादा बिना picture quality ख़राब किये
  • Display size- समय के साथ monitor का display size भी बढ़ता जा रहा है और आज के समय में monitor आप को 32 इंच तक मिल जाते है जो 15 inch से शुरू होते है आमतौर पर आपको 15,18,21,24,27 or 32 inch के monitor देखने को मिल जायेगे

Conclusion

तो दोस्तों आपने जाना की monitor kya hai, monitor history, types of monitor इसके अलावा भी हमने आपको monitor के बारे में कई और जानकारिया दी. और इस के साथ हम आपको ये भी बता दे की जैसे technology में आज के समय बहुत ही तेज़ी से बदलाव आ रहा है उस का प्रभाव हमारे monitors पर भी पढ़ रहा है. और नयी नयी तरह के एडवांस monitors आ रहे है. लेकिन जैसा की हम सब जानते है की नयी technology शुरुवात में मंहगी होती है और धीरे धीरे उसकी price कुछ कम होती है तो ऐसे में आप कुछ पैस बचा सकते है. और दोस्त आपको ये पोस्ट कैसा लगा हमे कमेंट section में जरुर बताये और इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करे जो monitor या technology में interest रखते हो

और हाँ दोस्तों आप चाहे तो हमारा youtube चैनल भी subscribe कर सकते है

 

Leave a Comment