NABARD Full Form व राष्ट्र के विकास में NABARD की महत्वपूर्ण भूमिका

Spread the love

NABARD Full Form & Important role of NABARD in the development of nation in hindi

जैसा कि आप सभी जानते है कि आज भी भारत की आधी से ज्यादा (65%) जनसंख्या rural areas में रहती हैं और कृषि (agriculture) के व्यवसाय से जुड़ी हुई है। अगर हम rural development की बात करते है तो इस का तात्पर्य है कि ग्रामीण क्षेत्रों में कृषि और संबद्ध गतिविधियों में अधिकतम उत्पादन किया जा सके।

महात्मा गांधीजी का मान ना था कि “ भारत का भविष्य इसके गांवों में निहित है” । तो अब हम NABARD का rural development में क्या योगदान है और उसके लिए NABARD क्या-क्या नीतिया अपना रहा है इस के बारे में जानेंगे. इसके साथ ही आपको nabard full form ,nabard schemes और nabard functions के बारे में भी बतायेगे ।

NABARD का पूर्ण रूप क्या है (what is full form of nabard)?

NABARD ki full form “National Bank for Agriculture and Rural Development” है। जिसे हिंदी में “राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक के नाम से जाना जाता है।

NABARD Full Form in hindi  – राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक

NABARD क्या है और इसकी स्थापना कब हुई?

nabard kya hai इसका जवाब बहुत ही सरल है। NABARD भारत का एक apex development finance institution है। जिस का कार्य भारत के rural areas की agriculture industries और उनसे जुड़े economic activities के लिए ऋण के क्षेत्र में नीतिया, योजना बनाना और संचालन करना है।

आयोजना प्रक्रिया की शुरुआत से ही भारत सरकार ने rural economy को गति देने में institutional credit को महत्वपूर्ण माना। भारत सरकार के कहने पर भारतीय रिज़र्व बैंक ने CRAFICARD का गठन किया। और B.Sivaramman Committee (संसद के अधिनियम 61, 1981 द्वारा) की सिफारिशों पर National Bank for Agriculture and Rural Development Act 1981 को लागू करने के लिए nabard ki sthapna 12 जुलाई 1982 को की गई। NABARD की आरंभिक पूँजी 100 करोड़ रुपये थी।

ये पोस्ट भी जरुर पढ़े :

NABARD द्वारा चलाई जाने वाली योजनाएँ ( nabard schemes )

NABARD का लक्ष्य ग्रामीण अर्थव्यवस्था को सशक्त और आर्थिक रूप से समावेशी बनाना है। इस के लिए उनके तीन departments है

  • Financial
  • Developmental
  • Supervision.

 

अपने लक्ष्य को पूरा करने के लिए NABARD द्वारा चलाई जाने वाली योजनाएँ (nabard schemes) कुछ इस प्रकार है :

  • Dairy Entrepreneurship Development Scheme (DEDS)

NABARD डेयरी क्षेत्र में पशुपालन, डेयरी और मत्स्य पालन जैसे स्व-रोजगार के अवसर पैदा करने, milk production बढ़ाने, उनकी preservation ,transportation processing और marketing जैसे कार्य को करने के लिए DEDS को लागू कर रहा है।

  • Capital Investment Subsidy Scheme for Commercial Production Units for organic/ biological Inputs

इस project में NABARD एक subsidy channelizing agency है। इस scheme का aim synthetic fertilizers और pesticides को बिना use किए organic farming करने के लिए लोगो में जागरूकता बढ़ाना है।

  • Agriclinic and Agribusiness Centres Scheme (ACABC)

इस योजना का उद्देश्य कृषि-लाभ और किसानों के लक्षित समूह को सामर्थ्य के अनुसार मुफ्त services देना, कृषि विकास का समर्थन करना तथा बेरोजगार agricultural graduates, PGs के लिए लाभकारी स्वरोजगार के अवसर पैदा करना है।

  • National Livestock Mission (2014-15)

इस mission का उद्देश्य पशुधन क्षेत्र (livestock sector) का sustainable development करना है। इस योजना से किसान, , Individuals Entrepreneurs, कंपनियाँ, सहकारी, Self- Help Groups और NGOs लाभान्वित हो सकते है।

  • Interest Subvention Scheme (2006-07)

इस योजना के तहत किसानों को 3.00 लाख तक 7% ब्याज पर short term credit दिया जाता है। पहले वर्ष के लिए natural calamities से प्रभावित किसानों को राहत देने के लिए फसली ऋण का बैंकों को 2% का ब्याज उपलब्ध कराया गया।

ये पोस्ट भी जरुर पढ़े :

Functions of NABARD

  • ग्रामीण भारत के सुधार और विकास के लिए financing services प्रदान करना
  • agriculture और farming activities के लिए धन कार्यक्रमों का आयोजन और प्रबंधन
  • rural financial institutions के लिए नीति बनाना
  • marketing federations को ऋण सुविधाएं प्रदान करना
  • NABARD गोदाम, cold chain और cold storage infrastructure को ऋण सेवाएं प्रदान करता है
  • NABARD long-term irrigation और rural infrastructure development funds प्रदान करने में विशेषज्ञ है

NABARD official website

तो अब हमें nabard ki sthapna ,nabard full form ,nabard schemes और nabard functions के बारे में पता लग गया है।तो हम कह सकते है कि NABARD एक सर्वोच्च संस्था है जो policy, planning और rural areas में agriculture के लिए ऋण देने के संचालन के साथ-साथ सभी मामलों से निपटने की power भी रखती है। यह देश के सभी जिलों के लिए सालाना rural credit plans तैयार करता है ताकि देश का हर गांव तरक्की कर सके।

Leave a Comment