सर्वर क्या है पूरी जानकारी | Server Kya hai

सर्वर क्या है | What is server in Hindi

एक computer program या device जो किसी दूसरे computer program या उसके user को service provide करता है उसको server कहते है.

Data center में advance computers जो server program को run करता है उसको भी server कहा जाता है

Basically, server कोई एक software या hardware device होती है जो network के अंदर request को accept और query के हिसाब से client को respond करती है

जो device ये request भेजती है और server द्वारा भेजे गए response को accept करती है उसको client कहते है. जैसे की कोई web browser जिसको आप server के केस में client भी कहा सकते हो

वैसे तो server कई प्रकार के होते है जिनके ऊपर चर्चा हम आगे करेंगे

पर Internet पर server मुख्यता उन्हीं computer systems को कहा जाता है जो hosting company website host करने के लिए इस्तेमाल करती है

इन servers या कहे की computer systems का इस्तेमाल client से request receive कर web files को browser तक भेजने में किया जाता है

Server का इस्तेमाल क्यों किया जाता है | what’s the use of server in Hindi

एक server network के resources को manage करता है server को network को access करने के लिए setup किया जा सकता है

Server की मदद से आप बहुत से काम कर सकते है जैसे की email भेजना या receive करना, website को host करना, print jobs को manage करना और भी बहुत से काम होते है जो आप एक server की मदद से कर सकते है

ये पोस्ट भी जरुर पढ़े:

UPS क्या है | UPS kya hai in Hindi

डार्क वेब क्या है | dark web kya hai in Hindi

सर्वर के प्रकार on basics of task | Types of servers on basis of task in Hindi

  • Web server (proxy server kya hai)- वेब सर्वर एक computer program और hardware का मिला जुला system है जो client या कहे browser तक HTML pages और files को deliver करता है. जैसी request receive होती है उसकी के अनुरूप एक web server respond करता है
  • Proxy server (proxy server kya hai)- ये एक ऐसा server होता है जो proxy services देता है ये server दो devices के बीच में रहता है और client device को privacy प्रदान करता है. ये server दो device के बीच में रहा कर client की IP address को mask कर देता है जिस से की client computer को track करना आसान नहीं रहता. IP address को mask करके ये server privacy प्रदान करता है client computer की जो भी query होती है वो proxy server से हो कर ही आगे जाती है और web server से जो भी data वापस आता है वो proxy server से ही हो कर आता है. ऐसा होने की वजह से user की real IP address reveal नहीं होती
  • Database server ( डेटाबेस सर्वर क्या है)- Database server का इस्तेमाल database को host करने के लिए किया जाता है जब भी client device से कोई database से सम्बंधित request करता है तो वो सभी database servers से ही resolve होती है
  • Print server – print server एक ऐसा server होता है जो की printer को client computer से connect करता है. और over the network printing को संभव बनता है. एक जो print server होता है वो computer से print job को लेकर printer तक भेजता है. और over the network printing को संभव बनता है
  • Standalone server- जैसा की नाम से ही पता चल रहा है एक stand alone server अकेले ही run करता है और किसी भी server group का हिस्सा नहीं होता है ये server local ही use किया जाता है इस तरह का server local user और local database का ही इस्तेमाल करता है और user mode या shared mode में उपलब्ध रहता है
  • Mail server- mail या email server उस server को कहते है जो email को handle या deliver करता है किसी भी network पर. एक mail server जो होता है वो client computer से emails receive करके दूसरे mail servers को deliver करता है या सीधे दूसरे client computer को deliver करता है. वैसे client computer की जगह मोबाइल भी हो सकता है
  • Dedicated server- dedicated server शब्द का इस्तेमाल ज़्यादातर hosting company के द्वारा किया जाता है. Dedicated server एक प्रकार की hosting है जहां पर client को एक पूरा server allot किया जाता है. एक पूरा server client के लिए dedicated होता है
  • Domain name server – domain name server internet का फ़ोन बुक है जब भी कोई internet user domain name type करता है browser में. तब domain name server ही responsible होता है उस domain का correct IP address खोजने के लिए. Domain Name servers जो होते है internet पर वो specialized होते है इस तरह की queries को solve करने के लिए. कोई भी domain हो उसको कम से कम दो domain name servers assign किए जाते है
  • Application server- application server application को host करने के लिए इस्तेमाल में लाया जाता है इस तरह के server को application को run करने के लिए ही design किया जाता है
  • File server – file servers का इस्तेमाल किसी बड़े ऑफिस में किया जाता है file server एक central server होता है किसी computer network का. इसकी मदद से कोई भी connected computer या client जो है वो server के साथ जुडी storage में पड़ी file को access कर सकता है
  • Game server – इसकी उपयोग बहुत सी devices को जोड़ कर एक साथ gaming करने के लिए किया जाता है

इन सब के अलावा और भी तरह के server होते है

Server के प्रकार Hardware के अनुसार |Types of Servers on the basis of hardware in Hindi

वैसे तो servers personal computer से अलग ही होते है लेकिन इन के hardware में इतना अंतर भी नहीं होता कुछ component common भी मिल जायेंगे जैसे की CPU, memory, power supply लेकिन फिर भी servers personal computers से बहुत advance होते है

  • Tower server – tower server desktop PC की तरह ही दिखते है हलांकि इन का इस्तेमाल तभी किया जाता है जब space की कमी नहीं होती या आपको एक ही जगह बहुत अधिक servers न लगाने हो. अगर आप और भी बहुत सारे servers लगाना चाहते है तो tower servers सही option नहीं. क्यु की ये बाकी के servers की तुलना में space कुछ अधिक लेते है
  • Rack Server- racks को ऐसा बनाया जाता है की उस पर multiple servers को लगाया जा सके. और servers भी ऐसे होते है की वो racks par लग सके. इसके अलावा racks को थोड़ी जगह पर रखा भी जा सकता है. Rack server लगाने से space बचता है और कही अगर बहुत अधिक server लगाये जाने है तो वह rack servers का इस्तेमाल किया जाता है
  • Blade server – ये space saving servers होते है और इनका इस्तेमाल ज़्यादातर web hosting providers और data centres के द्वारा किया जाता है. क्यु की इस तरह के server architecture में एक ही chassis में multiple servers हो सकते है. और ये सभी blade servers किसी rack में mounted होते है. Blade servers design के मामले में rack server के जैसे ही होते है हलांकि ये rack server की तुलना में कुछ पतले होते है और इनकी कीमत rack server से कुछ अधिक होती है

जहा पर space का issue होते है वह par racks servers का चुनाव किया जाता है वही अगर कही server cooling ज्यादा जरूरी है तो ऐसे में tower servers लगाए जाते है और अगर कही space भी save करना है और cooling और दूसरी efficiency भी चाहिए और money का भी कोई issue नहीं है तो ऐसे में blade server का चुनाव किया जाता है क्यु की ये बाकी दोनों servers की तुलना में अधिक costly होते है

Servers को हमेशा on क्यों रखा जाता है

Servers को 24/7 साल के 365 दिन on रखा जाता है क्यु की servers का इस्तेमाल ऐसी services को देने की लिए किया जाता है जिनकी लगातार जरूरत होती है इस लिए servers को कभी भी off नहीं किया जाता.

कई बार servers में कुछ problem आ जाती है तो ऐसे समय में server के द्वारा दी जाने वाली service पर भी विराम लग जाता है

क्या किसी भी computer को server बनाया जा सकता है

वैसे तो professional server अलग से आते है और काफी costly भी होते है लेकिन आप चाहो तो किसी भी computer को server बना सकते हो. फिर चाहे वो आपका home PC हो या laptop आप उसको server बना सकते हो

इसके लिए आपको सिर्फ एक software को अपने PC पर install करना है ऐसा ही एक software है FTP server program. जो आप check कर सकते हो

सर्वर डाउन मीनिंग इन हिंदी | what is server down in Hindi

किसी भी server का काम client को service provide करना होता है वही जब ये ऐसा करने से fail होता है तो ऐसे समय में एक शब्द का प्रयोग किया जाता है जो है server down. कई बार server down को server crash भी कहा देते है

ऐसा होने पर जब कोई client या user किसी query के लिए server से connect होने की कोशिश करता है तो server down या crash होने की वजह से ऐसा message आता है “ server not found या server is not responding”

Server down होने की कई वजह हो सकती है जैसे की

  • Power failure के कारण कई बार server fail या crash हो जाते है
  • Server में कोई hardware problem हो जाती है क्यु की server एक मशीन है जो की कभी भी ख़राब हो सकती है
  • DOS attack होने पर भी server down की समस्या हो सकती है इसके अलावा hackers और भी दूसरे तरह के attack के ज़रिये server को hack करके down कर सकते है
  • Server का operating system का ख़राब हो जाना भी server down होने की एक वजह बना सकता है
  • कई बार server पर server की capacity से अधिक traffic आ जाने की वजह से भी server down की समस्या का सामना करना पड़ सकता है
  • इन सब के अलावा और भी hardware software related issues हो सकते है जिनकी वजह से server में समस्या आ सकती है

मैं एक ब्लॉगर व इस ब्लॉग का संस्थापक हु यहाँ इस ब्लॉग पर अपने पाठकों के लिए उपयोगी जानकारी लिखता हूं आप चाहे तो हमारे ब्लॉग को सोशल मीडिया पर फॉलो कर सकते है
Facebook | Instagram | Telegram

Spread the love

Leave a Comment