UPS kya hai पूरी जानकारी हिन्दी में

UPS kya hai | यूपीएस क्या होता है

Ups का इस्तेमाल computers या ऐसी ही दूसरी devices के साथ किया जाता है ताकि उनका voltage fluctuation या cut से बचाव किया जा सके व power backup भी लिया जा सके . जब बिजली अचानक से चली जाती है या voltage fluctuation होता है तो computer जैसी devices का ख़राब होने का खतरा रहता है UPS ऐसे ही खतरे से बचाव करता है.

UPS के अंदर या बाहर साथ में battery होती है voltage fluctuation या power cut होने पर UPS power source change कर देता है. UPS mains cut होने पर तुरंत device को battery पर डाल देता है. इस switching process में बिलकुल भी delay नहीं देखने को आता

इसके अलावा UPS inbuilt inverter की मदद से battery का DC voltage को AC में convert कर देता है और उसके बाद device को send करता है

UPS को आप किसी भी device से connect कर सकते है UPS सिर्फ computer के लिए नहीं बनाया गया

UPS power spikes से किसी भी device को बचाता है अगर अपने किसी device पर UPS लगा रखा है तो वो device बिना किसी voltage drop या spike के डर के आराम से चल सकता है

UPS full form

UPS की full form होती है “uninterruptible power supply

Parts of UPS in Hindi

कोई भी UPS कुछ parts को जोड़ कर बनाया जाता है किसी भी UPS में आपको ये parts जरूर मिलेगी

  • बैटरी – voltage fluctuation या power cut होने पर power backup battery के कारण ही संभव हो पता है
  • Inverter – एक UPS जो है वो inverter की मदद से ही battery के DC voltage को AC में convert कर देता है. Battery DC current देती है जबकि जो हमारी power supply होती है वो AC current होती है तो ऐसे में इसको convert करने के लिए ups जो है वो inverter का इस्तेमाल करता है. Inverter UPS में inbuilt ही होता है
  • Transfer switch – transfer switch से switch करने में मदद मिलती है AC supply और battery power के बीच में. जब भी voltage ऊपर नीचे होती है या power cut लगता है तो एक UPS power source change switch की मदद से ही करता है
  • Battery charger – अब जब battery लगी है तो उनको charge करने के लिए battery charger की भी आवशकता है ऐसे में battery charger भी आपको एक UPS में मिल जायेगा

ये पोस्ट भी पढ़े:

UPS के प्रकार | Types of UPS in Hindi

1.Line-interactive UPS – line interactive UPS इस तरह के UPS भी आपको बहुत जगह देखने को मिल जायेंगे.

ये UPS standby UPS की तरह ही होते है इनमें एक feature और होता है की voltage को regulate कर सकते है

ये लगातार supply को monitor करते रहते है अगर voltage low या high आती है तो low voltage आने पर power add कर सकते है और high voltage आने पर power को कुछ घटा सकते है और supply को constant कर सकते है

ऐसा करके ये किसी भी device को power spikes और surges से protection provide कर सकते है

2.Standby UPS – ये सबसे सस्ता ups जो अकसर हम अपने personal computer के साथ इस्तेमाल करते है ये standby ups होता है. इस UPS को offline UPS भी बोला जाता है. जैसी ही power जाती है ये ups तुरंत चालू हो जाता है और uninterrupted power supply provide करता है

3. online double-conversion UPS – ये most advanced और सबसे अधिक कीमत वाले UPS होते है इस तरह का UPS लगातार battery से power provide करता है

और जो device इस तरह के UPS से connect किया जाता है उसको ये UPS ही हर समय power supply करता है फिर चाहे mains power cut हो या on

इस तरह के UPS लगातार clean और perfect power provide करते रहते है फिर पीछे से चाहे कैसी भी supply आ रही हो. ये लगातार खुद ही power supply provide करते है

इस तरह के UPS के होते हुए device में सीधे mains supply नहीं दी जाती

इस तरह का UPS पहले AC power को DC में convert करता है और फिर वापस AC में तभी इसको

online double-conversion UPS कहा जाता है

ये UPS सबसे advance और costly होता है और इसको संवेदनशील जगहों पर इस्तेमाल किया जाता है जैसे की costly और important IT machines पर जहां पर एक भी मिनट का current loss या spike भारी नुकसान पहुंचा सकता है. वह पर online double-conversion UPS को इस्तेमाल किया जाता है

जैसे की high end servers, data centres, ISP telecom centres पर

So basically, सभी UPS जो होते है वो power backup provide करते है

जहां standby UPS limited power backup provide करते है तो वही line interactive UPS voltage power spikes और surges से भी protection provide कर सकते है और online UPS लगातार clean power देते रहते है क्यु की ये mains लेकर खुद power output देते है हर समय

UPS kya hai
UPS kya hai

इन तीन के अलावा और भी तरह के UPS आते है लेकिन मुख्यता यही बाज़ार में ज्यादा चलते है

ये पोस्ट भी जरुर पढ़े :

UPS के फायदे | Benefits of UPS in Hindi

  • लाइट जाने पर ups तुरंत battery power source को switch कर देता है और ये ऐसा बिना किसी delay के करता है इस से device को continuous without interruption power मिलती रहती है. जो device को असमय ख़राब होने से बचाती है
  • UPS बिलकुल silent होते है
  • UPS जो होते है वो home inverter और generators से बेहतर option है
  • UPS बहुत ही low maintenance होते है
  • UPS अलग-अलग size और तरह के आते है आप अपनी जरूरत के हिसाब से उन्हें खरीद सकते है

UPS के नुकसान | drawbacks of UPS

  • वैसे तो UPS के खास कोई नुकसान तो नहीं होते है लेकिन फिर भी इनकी मदद से heavy appliances को नहीं चलाया जा सकता है
  • कई advance UPS को install करने के लिए आपको professional service लेनी पड़ सकती है
  • कुछ समय बाद जब UPS की battery change करनी पड़ती है तो आपको काफी पैसा भरना पड़ सकता है लेकिन अगर generator की running cost से इसको compare करें तो लम्बे समय में तुलनात्मक रूप से ये कम ही पड़ती है

top UPS manufacturer in India

UPS VS Generator in Hindi

UPS seamless uninterred power supply provide करता है लेकिन generators के साथ ऐसा नहीं है. मगर generators से आप लम्बे समय तक power supply generate कर सकते है लेकिन UPS के साथ ऐसा नहीं है क्यु की जब UPS के साथ जुडी battery discharge हो जाती है तो उसके बाद उन batteries को recharge किये बिना दुबारा power backup लेना संभव नहीं है

UPS vs Stabilizer in Hindi

Voltage stabilizer का इस्तेमाल power को stable बनाये रखने के लिए किया जाता है अगर voltage spikes और surges आ रहे रही तो voltage stabilizer उसको stable करता है

वही UPS का कार्य power backup देने का होता है और यही इन दोनों के बीच मुख्य अंतर है

हलांकि line interactive UPS जो आते है वो कुछ हद तक voltage stabilization provide करते है लेकिन फिर भी वो voltage stabilizer जैसे perfect और accurate नहीं होते

वही जो online UPS होते है वो बहुत ही सही तरीके से stabilized voltage provide करते है क्यु की online UPS हमेशा खुद से ही output supply करते है वो light जाने का इंतज़ार नहीं करते

और हमेशा current खुद ही supply करते है

आशा करते है UPS kya hai ये आप जान गए होगे एक device को power spikes और surges से बचने में और power backup देने में UPS का अहम योगदान होता है तो ऐसे में अगर आप UPS का इस्तेमाल नहीं करते तो आपको इसके बारे में सोचना चाहिए.

Devanshu wadhwa

मैं एक ब्लॉगर व इस ब्लॉग का संस्थापक हु यहाँ इस ब्लॉग पर अपने पाठकों के लिए उपयोगी जानकारी लिखता हूं आप चाहे तो हमारे ब्लॉग को सोशल मीडिया पर फॉलो कर सकते है
Facebook | Instagram | Telegram

Spread the love

Leave a Comment