TRP kya hai ? TRP ki Full Form

Spread the love

TRP kya hai ? TRP ki Full Form

आज के समय में TV channels की भरमार है और हम में से काफी लोग TV देखते है और अगर आप भी टीवी देखते है तो आपने भी serial की TRP के बारे में सुना ही होगा. TRP एक ऐसा शब्द है. जो हर TV देखने वाले ने कभी न कभी जरुर सुना होगा

अपने ये जरुर सुना होगा की इस चैनल की TRP दिन ब दिन बढ़ती ही जा रही है। और अगर अपने भी कभी TRP के बारे में सुना है और आप नहीं जानते की ये TRP hai kya.

तो आप बिलकुल सही जगह पर है क्युकी आज हम आपको TRP ki full form तो बतायेगे ही साथ ही TRP के बारे में काफी अन्य जानकारी भी देगे

तो चलिए जानते है TRP ki full form kya hai

TRP को television rating point के रूप में जाना जाता है। या आप ये भी कहा सकते हो की की ये TRP का full form hota hai. Television Rating Point यानि TRP की मदद से यहा पता चलता है की कौन सा serial अधिक देखा जाता है

TRP टेलीविज़न के लिए बहुत ही popular पमाना है किसी भी serial की प्रसिद्धी जानने का

इस आर्टिकल तो पूरा पड़ने से आपको पता चलेगा की TRP kya hai , और हाई या low TRP का किसी भी program पर क्या असर होता है हम आपको ये भी बतायेगे की TRP को kaise मापा जाता है

ये भी पढ़िए  10 Best Hindi Motivational Novels जो आपको जीवित रहते जरुर पढनी चाहिये

TRP kaise check karte hai या TRP का कैसे पता लगाया जाता है

आपने जाना की TRP ki full form kya hoti hai. पर क्या आप जानते है कि एक टीवी चैनल की टीआरपी की calculation कैसे की जाती है

TV channel की TRP उस TV channel पर आने वाले serials की TRP से बनती है. अगर TV पर आने वाले shows popular है और काफी देखे जाते है तो उस channel की TRP भी हाई हो जाती है

उद्धरण के लिए हम आपको बता दे की जब Kapil Sharma show colors TV से Sony पर shift हुआ था तब colors TV की TRP कुछ कम हुई थी

और किसी भी serial की TRP kaise calculate होती है वो हम आगे बता रहे है

TRP की calculation DART and INTAM नाम की एजेंसियों द्वारा की जाती है जहा INTAM की full form Indian television audience measurement hai. वही DART DART यानी Doordarshan audience research team

ये दोनों ही भारतीय सरकार की agency है ये दो तरह से TRP का पता लगाती. एक तो ये survey sampling करती है. जिस में ये randomly कुछ लोगो से सर्वे करती है

जिसमे ये लोगो से विभिन्न चैनलों और टीवी कार्यक्रमों को लेकर सवाल करती है दूसरा ये इलेक्ट्रॉनिक तरीकों का इस्तेमाल करके दर्शकों का data collect करती है

ये article भी जरुर पढ़े DP full form | DP kya Hota hai or what is full form of DP

अगर बात करे electronic तरीके की तो TRP को calculate करने के लिए दो इलेक्ट्रॉनिक तरीके हम आपको नीचे बता रहे है

1. TRP को calculate करने के लिए कुछ जगह मीटर डिवाइस को लगाया जाता है. meter device लगाने के लिए कुछ घरो का चयन किया जाता है इस तरह कुछ दर्शकों का random basis पर viewing patteren देखा जाता है

ये इस meter की मदद से लोगों द्वारा देखे गए चैनल या प्रोग्राम के बारे में data रिकॉर्ड करते है । रिकॉर्ड किया गया data एक मिनिट के आस-पास होता है जिसको बाद में INTAM की team मापती है और उस data को अच्छी तरह जाँचने के बाद INTAM की team ये तय करती है कि चैनल या कार्यक्रम की टीआरपी क्या होनी चाहिए।

2. दूसरा तरीका जो है वो हा picture matching जिसमे लोगो द्वारा serial का एक image record किया जाता है और यहा image को घरों के एक सेट से एकत्र किया जाता है और बाद में टीआरपी की गणना के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है

ये article भी जरुर पढ़े अमेज़न से पैसे कैसे कमाते है Amazon se paise kaise kamate hai

क्या होता है जब TRP कम होती है किसी show की या channel की

किसी भी serial की TRP कम या ज्यादा होने से सीधे उस टीवी चैनल की इनकम पर असर पड़ता है. क्युकी हर channel या serial ads से इनकम करता है. जो हम सब को पता है. serials की बीच में कितने ads दिखाइए देते है ये हम सब जानते है.

ऐसे में अगर किसी serial की TRP कम है तो उसको कम विज्ञापन मिलेगे. क्युकी TRP कम होने का मतलब है की उस serial को कम लोग देख रहे है ऐसे में कोई भी विज्ञानपनदाता ऐसे serial में ads देना पसंद नहीं करेगा. और अगर advertisement देता भी है तो वो चाहेगा की उसे ad की बहुत कम कीमत देनी पड़े

कम TRP वाले shows को विज्ञापनदाता कम विज्ञापन देंगे और देगे भी तो कम भुगतान करेंगे। वही अगर TRP high hai तो , तो अधिक विज्ञापन और वो भी अधिक rate पर

Conclusion

तो दोस्तों आपने जाना की TRP kya hota hai. TRP ko kaise calculate karte hai. और आपने ये भी जाना की TRP कम होने पर क्या होता है और channel और program पर इसका क्या असर होता है. और दोस्तों comment section में हमे comment करके जरुर बताये की ये लेख आपको कैसा लगा

और दोस्तों आप चाहे तो हमारा youtube channel भी subscribe कर सकते है

 

Leave a Comment