Bios kya hai BIOS के बारे में पूरी जानकारी

Bios kya hai | what is BIOS Hindi

BIOS की full form होती है basic input output system. BIOS एक software है जो आपके computer के motherboard में install किया होता है

BIOS जो है वो motherboard पर पाई जाने वाली ROM chip में store होती है

जब आप computer को start करते है तो computer जो है वो boot होने के लिए जरूरी information यही से लेता है

जब आप computer को start करते है तो BIOS ही वो software होता है जो सबसे पहले start होता है

BIOS को दुसरे कई नाम से भी जाना जाता है जैसे की system BIOS, PC BIOS, ROM BIOS

BIOS एक तरह का basic operation system होता है. जो आपके computer के start होने पर आपके computer के operating system से भी पहले start होता है

BIOS के अंदर क्या होता है | what’s inside BIOS

BIOS के अंदर वो जानकारी store होती है जो आपके computer को instruction देती है की basic function जैसे की computer booting को कैसे करना है

इसके अंदर POST जैसा feature होता है post( power on self-test ) जिसकी मदद से ये check हो जाता है की computer को start करने के लिए सभी hardware सही से काम कर रहा है की नहीं

अगर computer पर POST test पास नहीं होता तो beep की आवाज़ आती है

अगर किसी hardware में कुछ fault है जिसके कारण computer boot नहीं हो पा रहा तो आपको एक beep सुनाई देती है.

ये beep भी अलग-अलग प्रकार की होती है ताकि आप ये पता लगा सके की कौन से error है

Beep के अलावा BIOS error message को भी display कर सकता है

Beep के और error message के हिसाब से आप computer के न start होने के कारणों को जाँच सकते है

ये पोस्ट भी पढ़े:

BIOS के कार्य | BIOS के काम | functions of PC BIOS in Hindi

  • POST

BIOS ये step सब से पहले perform करता है यहाँ BIOS post (power on self test) करता है जिसमें ये Computer के hardware को test करता है. ये जाँच करता है की सभी hardware सही से काम कर रहे है की नहीं.

अगर सब सही होता है तो ये next step bootstrap loader में enter करता है. अगर POST fail होता है तो beep sound आती है. Beep sound भी कई प्रकार की होती है

  • Bootstrap Loader

इस step में BIOS जो है वो Operating system को hard disk में locate करता है और अगर operating system सही से काम कर रहा है तो उसको computer के control पास कर देता है

  • BIOS driver

BIOS drivers जो है वो non volatile memory chip में store program होते है जो computer hardware सम्बंदित basic information प्रदान करते है. ये Low level drivers होते है जो computer को basic operational control प्रदान करते है computer के hardware के ऊपर

  • BIOS Setup/CMOS Setup

BIOS setup एक configuration program होता है जो की hardware setting को configure करने में मदद करता है. इसको CMOS setup के नाम से भी जाना जाता है. ये छोटी-छोटे चीज़ें जैसे PC date & time , computer password, system setting, CPU setting power on setting जैसी setting को previous setting के हिसाब से configure करने में मदद करता है

इन सब के अलावा और भी बहुत से setting को ये configure करने में मदद करता है

BIOS को update करने के फायदे | Benefits of updating BIOS

BIOS को update करना आपके PC को बेहतर बनता है. अगर आपके motherboard manufacture ने आपके motherboard version का latest updated BIOS निकाला है. तो उसको आपको update करना चाहिए.

Motherboard Manufacturer जो है BIOS को जरूरत पड़ने पर improve करते है. ऐसा करके वो BIOS को new hardware के compatible बनाते है इसके अलावा वो security patches और bug fixes को करने के लिए भी ऐसा करते है

हलांकि आपको BIOS को update करते समय सावधानी बरतनी चाहिए क्यु की update करते समय अगर कुछ खामी आती है तो उसको सही करना काफी मुश्किल हो सकता है. ऐसे में खुद अगर आप technical knowledge नहीं रखते तो आपको BIOS update के लिए किसी technical व्यक्ति की मदद लेनी चाहिए

BIOS update करने से computer में कोई नए features या speed आदि में कोई बदलाव नहीं आता है . इसके अलावा और भी कोई major changes आपको देखने को नहीं मिलेंगे. तो ऐसे में आप BIOS update को skip भी कर सकते है.

ये पोस्ट भी पढ़े:

Top BIOS manufacturer Hindi

  • IBM
  • BYOSOFT
  • Phoenix Technologies
  • American Megatrends
  • Dell
  • Insyde Software

शुरुवाती समय में BIOS को IBM के द्वारा बनाया गया था लेकिन आज के समय में काफी motherboard manufactures इसका इस्तेमाल कर रहे है. जितने भी computer motherboard होते है उन सभी में BIOS software होता है

BIOS जो होता है वो motherboard का हिस्सा होता है. ये operating system से अलग होता है. आपके system में operating system जो भी हो उसमे BIOS तो जरूर मिलेगा

BIOS को manufacturing के process के दौरान ही install कर दिया जाता है वही जो operating system होता है वो user या manufacturer के द्वारा बाद में install किया जाता है

BIOS का पासवर्ड क्या है | BIOS password in Hindi

आप चाहे तो BIOS का password भी set कर सकते है. ये authentication protection देने के लिए additional feature आता है. आप जो है वो BIOS setup utility में जा कर password को set कर सकते है. Password set करने से अगर कोई BIOS utility को access करना चाहेगा तो उसके लिए उसको password का पता होना चाहिए

वैसे default में password set किया हुआ नहीं आता लेकिन ये feature होता है जिसका अगर आप इस्तेमाल करना चाहे तो कर सकते है

BIOS password और windows account password दोनों अलग-अलग होते है

BIOS update कैसे करे | How to update BIOS Hindi

BIOS को update करने से पहले आपको पुराने installed BIOS का version check करना है.

उसको check करने के बाद आपको आपके motherboard manufacturer की website पर जा कर ये देखना है की क्या BIOS का नया version available है. आपको आपके BIOS के latest version को download कर लेना है

इसके बाद file को click करके install कर सकते है. लेकिन install करते समय आपको इस बात का ध्यान रखना है की आपको computer को बीच में ही shutdown नहीं करना है. अगर किसी भी कारणवश अगर आपका computer बीच में बंद हो जाता है

तो इस से आपका motherboard ख़राब हो सकता है आपका motherboard brick हो सकता है और फिर उसको वापस working में लाना मुश्किल हो सकता है

इस समस्या से बचने के लिए आप bios software में जा कर boot lock को इस्तेमाल कर सकते है ऐसा करने से अगर कुछ गड़बड़ होती भी है तो आप उसको recover कर पायेंगे

अगर आप ये सब खुद नहीं कर सकते तो इसके लिए आप किसी computer technician की मदद ले सकते है

आज के समय में आने वाला जो BIOS software है वो interative होता है ऐसा पहले नहीं था पुराना BIOS बस error Beep और error display करता था

1990 के बाद से BIOS setup utility develop होना शुरू हुआ जो आज के समय में काफी advance हो गया है

हलांकि last के कुछ सालो में BIOS की जगह UEFI लेने लगा है. UEFI की full form होती है unified extensible firmware interface.

ये BIOS से काफी advance है और better interface और built in. Pre-os जैसे features के साथ आता है. इस pre-os में आप internet तक browse कर सकते है

BIOS computer में कहा होता है | where is BIOS located in computer Hindi

आज के समय में जितने भी computer आते है उनमें आपको या तो BIOS या UEFI देखने को मिलता है. एक जो BIOS होता है वो operating system से independently कार्य करता है

BIOS जो होता है वो motherboard hardware का part होता है और motherboard पर लगी chip में install होता है. वही operating system जो होता है वो hard drive में store होता है

आपके computer में चाहे जो भी operating system हो जैसे की linux, windows 8,10,11, Unix लेकिन उस में BIOS तो मिलेगा ही

BIOS operating system से बाहर independent हो कर काम करता है

BIOS को कैसे चलाये | How to enter BIOS Hindi

सब से पहले ये जान लेते है की आपको BIOS को चलने की क्या जरूरत है. अगर आप कोई नया hardware install करना चाहते है या computer के कोई built in feature को enable या disable करना चाहते है तो इसके लिए आपको BIOS को चलाना या कहे की BIOS में enter करना पड़ सकता है.

अगर आपको ऐसी कोई जरूरत नहीं है तो आपको आपके computer के BIOS को छेड़ने की जरूरत नहीं है. आपके computer में BIOS background में खुद ही अपना काम करता रहता है आपको उसको चलने की या देखने की जरूरत नहीं पड़ती

BIOS में enter करने के लिए आपको computer को start करते समय computer screen पर configuration, BIOS या setup word को खोजना है. उसके बाद आपको वह देखना है की आपको BIOS में enter करने के लिए किस key को press करना है

ज़्यादातर del, Tab, esc, F2 या F10 key को आपको दबाना पड़ता है. इन में से किसी key को दबा कर आप BIOS में enter कर सकते है

  • Computer को restart करें, अगर off है तो start करें
  • इसके बाद computer screen पर आने वाले texts पर ध्यान रखे वह लिखा आएगा की “entering setup” वही पर एक key भी लिखी आएगी जो आपको BIOS में enter करने के लिए press करनी पड़ेगी
  • लिखी हुई key को दबा कर आप BIOS में enter कर सकते है. अगर आप key को time से press नहीं करेंगे तो आपका operating system take over करके computer full start हो जायेगा. उसके बाद BIOS में enter करने के लिए PC को restart करना पड़ेगा
  • BIOS में enter करके आप उसका जरूरत हिसाब से इस्तेमाल कर सकते है

आशा करते है की BIOS kya hai आप ये जान गए होगे अगर आपके मन में BIOS को लेकर कोई सवाल है तो आप हम से comment section में पूछ सकते है

Devanshu wadhwa

मैं एक ब्लॉगर व इस ब्लॉग का संस्थापक हु यहाँ इस ब्लॉग पर अपने पाठकों के लिए उपयोगी जानकारी लिखता हूं. टेक्नोलॉजी, ब्लॉग्गिंग व ऑनलाइन पैसा कैसे कमाए आदि विषयों पर मै लिखता हु आप चाहे तो मुझे social media पर follow कर सकते हो
Facebook | Instagram

Spread the love

Leave a Comment