KYC Kya Hai और KYC Kyu Jaruri Hai

Spread the love

KYC kya hai

KYC Kya Hai और KYC kyu zaruri hai आज हम आपको इसी के बारे में detail में बतायेगे.

आज कल KYC की हर जगह ज़रूरत होती है तो ऐसे में आपने KYC का नाम तो जरुर सुन रखा होगा. शायद तभी आप KYC kya hai ये खोजते खोजते google से हमारी website पर आये है

अगर आप नहीं जानते के KYC kya hai तो आपको बतादे की KYC का इस्तेमाल Clients की identity को verify करने के लिए किया जाता है.

KYC का इस्तेमाल किसी भी client से व्यवासिक सम्बन्ध बनाने से पूर्व किया जाता है. KYC के द्वारा ये जाना जाता है की client कौन है उसकी identity kya hai.

ऐसा इस लिए किया जाता है ताकि client के background को जाना जा सकते और ये पता लगाया जा सकते की ग्राहक का कोई ख़राब background तो नहीं है जैसे की ग्राहक पूर्व में अपराधिक, अंतकी या ठगी कर ने वाला व्यक्ति तो नहीं है

ये पोस्ट भी जरुर पढ़े :

Telegram Kya Hai | Telegram Se Paise Kaise Kamate Hai

KYC full form

KYC की full form होती है know your customer

KYC meaning in Hindi

KYC का मतलब Hindi में होता है “अपने ग्राहक को जाने”

KYC की जरुरत कहा कहा पड़ती है

आज कल लो लगभग हर बड़ी private या सरकारी company ग्राहक से व्यवासिक सम्बन्ध बनाने से पूर्व KYC करती है

फिर चाहे mobile Sim लेना हो, bank खाता खुलवाना हो, paytm जैसे app में limit बढ़वानी हो, credit card लेना हो, post office या बीमा आदि लेना हो तो KYC की जरुरत पड़ती ही है इसके के अलावा बहुत सी जगह आज कल शुरवात KYC से ही की जाती है

KYC documents India list- KYC में कौन कौन से document आते है

अब जब आप को KYC करवाना होता है तो आप इन documents की मदद से KYC करवा सकते है. जो documents KYC करवाने के लिए उपयोग में लाये जाते है वो है

  • PAN Card – पैन कार्ड
  • Passport – पासपोर्ट
  • Aadhaar card – आधार कार्ड
  • Voter Id Card – मतदान पहचान पत्र
  • Driving Licence – – ड्राइविंग लाइसेंस
  • Ration card – राशन कार्ड
  • Copy of bank account statement

भारत की सरकार के द्वारा इन documents को KYC करवाने के लिए मान्य किया गया है. लेकिन फिर भी कुछ संसथान ये सभी documents as KYC नहीं लेते इनमे से कुछ ही accept करते है ऐसे में आप उस संसथान जिनसे आप जुड़ने वाले है check कर सकते है की वो KYC के लिए कौन से documents accept करते है

हलाकि आपको बता दे की ऊपर बताये गए document में से ही documents होते है इन के अलावा अन्य कोई documents नहीं होते

KYC kyu Jaruri Hai

KYC के जरिये fraud को कुछ हद तक रोका जा सकता है. जब कोई KYC करवाता है तो उस को उसी time identify कर लिया जाता है. ऐसे अगर कोई संदिग्ध व्यक्ति जैसे की कोई टेररिस्ट या और किसी प्रकार का fraud करने वाला व्यक्ति apply करता है तो उसको पकड़ा जा सकता है

इसके अलावा KYC होने के डर से भी इस प्रकार के व्यक्ति सरकारी या अन्य public services को लेने से रोका जा सकता है. क्युकी जो आदमी ने गलत काम किया है और जिसके खिलाफ कोई मामला दर्ज है वो पकडे जाने के डर से KYC करवाने से बचेगा

तो कुल मिला कर KYC के जरिये कुछ हद तक Money laundering, Terrorist funding और financial fraud जैसी गतिविधियों को रोका जा सकता है

ये पोस्ट भी जरुर पढ़े :

Instagram Se Paise Kaise Kamaye पूरी जानकारी Hindi मे

CKYC Kya Hai

CKYC को भारत सरकार के विभाग central registration of securitization reconstruction & security interest of India (CERSAI) के द्वारा किया जाता . अगर आप CKYC करवा लेते है तो आपको बार बार KYC करवाने की जरुरत नहीं पड़ती. CKYC खास कर financial sector के ग्राहकों की KYC करवाने में मदद करता है

जब आप CKYC के लिए documents submit करते है तो आपको KYC identification

Number मिलता है जिसे KIN के नाम से भी जानते है

अगर आप CKYC करवाना चाहते है तो उसके लिए आप नजदीक के CKYC centre में संपर्क कर सकते है.

SEBI ने बहुत से ऐसे third party एजेंसी को CKYC करने के लिए मान्यता दे रखी है CKYC करवाने के लिए आपको खुद किसी ऐसे ही centre जाना ही पड़ेगा. क्युकी CKYC आप online नहीं करवा सकते

Conclusion

जैसे की मैंने ऊपर बताया की KYC kya hai, CKYC kya hai और KYC kyu jaruri hai. आशा करते है आपको KYC के बारे में पूरी जानकारी मिल ही गयी होगी. वैसे अगर अभी भी आपके मन में कोई सवाल हो तो आप हमसे comment section में पूछ सकते है

 

Leave a Comment